आये दिन हम सब जीडीपी के बारे में सुनते रहते है आपने भी इस इस विषय में जरूर बात किये होंगे या फिर सुन होंगे, पर बहुत सारे ऐसे भी लोग हैं जिनको जीडीपी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती, या फिर बिल्कुल भी नहीं होती है तो आज हम जिस विषय पर बात करने जा रहे हैं वह है जीडीपी, इसलिए आइए जीडीपी के बारे में जानें और इसे समझने की कोशिश करें।

GDP | Gross Domestic product यदी इसे हिंदी में कहें तो कुल घरेलू उत्पाद।

क्या होती है GDP

किसी देश की सीमा में एक निर्धारित समय के भीतर तैयार सभी वस्तुओं और सेवाओं के कुल मौद्रिक मूल्य या बाजार मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद (GDP) कहते हैं। यह किसी देश की अर्थव्यवस्था की सेहत का पैमाना होता है। इसकी गणना आमतौर पर सलाना होती है लेकिन भारत में हर 3 महीने में इसकी गणना की जाती है।

यह भी पढ़े: happy birthday wishes? happy birthday इन हिंदी

GDP के प्रकार

GDP दो प्रकार की होती है

  1. Nominal GDP नॉमिनल जीडीपी
  2. Real GDP रियल जीडीपी
  • Nominal GDP – GDP at Current price.
    Real जीडीपी में जब महंगाई के असर को भी समायोजित कर लिया जाता है तो उसे Nominal जीडीपी कहते हैं। जैसे- अगर किसी वस्तु के उत्पादन में ₹100 की बढ़ोतरी हुई है वह महंगाई दर अगर 5 फीसदी है तो इसका रियल मूल्य 95 को ही जीडीपी माना जाएगा।
  • Real GDP – GDP at Constant price
    सभी वस्तुओं व सेवाओं के कुल मौद्रिक मूल्य को एक आधार वर्ष के बाजार मूल्य से निकाला जाता है उसे Real GDP कहते हैं

GDP की आवश्यकता

जीडीपी किसी भी देश के आर्थिक विकास का सबसे बड़ा पैमाना है अगर जीडीपी बढ़ता है तो इसका मतलब है कि आर्थिक विकास हो रहा है, रोजगार उत्पन्न हो रहे हैं, और इसी बढ़ने की दर को विकास दर भी कहते हैं।

GDP के हिस्से

अर्थव्यवस्था के तीन हिस्से हैं जिनके आधार पर भारत में जीडीपी की गणना की जाती है।

कृषि उधोग | और सेवाएं

कैसे तय होती है GDP

भारत मे जीडीपी की गणना हर 3 माह में होती है गणना के लिए देश के हर व्यक्ति का उपभोग, व्यवसाय के निवेश और सरकार के खर्च को जोड़ दिया जाता है तथा इसमें निर्यात आयत के अंतर को भी जोड़ दिया जाता है और यही देश के कुल जीडीपी होती है।

कौन तय करता है GDP

भारत में जीडीपी के आंकड़े सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय सांख्यिकी कार्यक्रम (CSO) द्वारा जारी किए जाते हैं, यह पूरे देश के आंकड़े इकट्ठा करता है तथा गणना करके जीडीपी के आंकड़े जारी करता है। इसके अलावा भी कई इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन जैसे- International Monetory Fund ( IMF) और विश्व बैंक भी GDP की वार्षिक गणना करते हैं।

क्या है भारत की GDP

भारत की GDP साल 2017 के मुताबिक 2.6 Lakh crores USD डॉलर हैं। साथ ही साथ मैं आशा करता हूँ की आज आप जीडीपी के बारे में अच्छी तरह से समझ गए होंगे। यदि अब भी आपके मन मे कोई प्रश्न हैं तो आप हमें संपर्क कर सकते हैं आपकी मदद करने में हमारी खुशी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here