बचपन में जब भी आपसे पूछा जाता था कि आप बड़े होकर क्या बनोगे तो अक्सर लोग कहते थे की डॉक्टर बनेंगे और वाकई में सच में अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं, मैक्सिमम लोग तो किसी दूसरे ही फिल्ड में निकल जाते लेकिन वाकई में आप मेडिकल इंडस्ट्री से प्यार करते हैं आपका इंट्रेस्ट इस फिल्ड में आने का तो ये लेख सिर्फ आपके लिए नमस्कार दोस्तो आप सभी का स्वागत है, आप भी मेडिकल की फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं तो आपने एम्स ( AIIMS ) का नाम तो जरूर सुना होगा क्योंकि हर मेडिकल स्टूडेंट इसी कॉलेज में एडमिशन पाना चाहता है क्योंकि एम्स मेडिकल कॉलेजेस में बेस कॉलेज है ऐसे में आप उस कॉलेज से जुड़ी सारी खास जानकारियां जरूर लेनी चाहिए चलिए शुरू करते हैं।

AIIMS क्या है।

AIIMS के फुलफॉर्म All India Institutes of Medical Sciences है यानिकी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स हायर एजुकेशन के ऐसे मेडिकल कॉलेज है जो कि ऑटोनोमस गवर्मेंट पब्लिक कॉलेजेस का ग्रुप है यानी एम्स उच्च शिक्षा के सार्वजनिक चिकित्सा संस्थानों का एक समूह है इस ग्रुप का सबसे पुराना एम्स इंस्टिट्यूट नई दिल्ली में है।

अभी इंडिया में टोटल 15 एम्स है:
एम्स नई दिल्ली | एम्स भोपाल | एम्स भुवनेश्वर | एम्स जोधपुर | एम्स पटना | एम्स रायपुर | एम्स ऋषिकेश | एम्स रायबरेली | एम्स मंगलागिरी | एम्स नागपुर | एम्स गोरखपुर | एम्स भटिंडा | एम्स बीबीनगर | एम्स कल्याणी | एम्स देवघर है और आठ एम्स अंडर कंस्ट्रक्शन हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर राज्य में एक एम्स खोलना चाहते हैं ताकि भारत के हर राज्य के हर नागरिक को आसानी से सही ट्रीटमेंट मिल सके जो कि बहुत अच्छी बात है बहुत जल्दी हमें ये हर राज्य में देखने को मिल सकेंगे।

यह भी पढ़े: पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता – तैयारी कैसे करे.

एम्स की स्थापना कब हुई।

एम्स की स्थापना जवाहर लाल नेहरू जी के सपने पर आधारित रही नेहरू जी चाहते थे कि दक्षिण पूर्वी एशिया में मेडिकल और रिसर्च की गति बनाए रखने के लिए एक केंद्र होना चाहिए और उनके देखे गए सपने को पूरा करने के लिए उनके द्वारा सिफारिशें और प्रस्ताव बनाए गए और साल 1952 में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानि कि एम्स की नींव रखी गई और साल 1956 में एम्स की स्थापना हुई।

एम्स का उद्देश्य क्या है।

एम्स का सबसे पहला एम्स उद्देश्य यही है कि एम्स की सभी ब्रांचेज में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन मेडिकल एजुकेशन में स्टडी का एक पार्टनर डेवलप किया जा सके ताकि सभी मेडिकल कॉलेज जिसमें मेडिकल एजुकेशन का एक हार्ट स्टैंडर्ड शोध किया जा सके मेडिकल फील्ड में काम करने वाले कारकों को एक ही जगह पर सबसे अच्छी एजुकेशन और ट्रेनिंग दी जा सके और मेडिकल फिल्ड में पीजी लेवल पर आत्मनिर्भरता लाई जा सके।

एम्स के कार्य क्या क्या हैं।

  1. मेडिकल के फील्ड में यूजी और पीजी लेवल पर स्टडी की सुविधा देना।
  2. नर्सिंग और डेंटल ट्रीटमेंट की एजुकेशन देना।
  3. एजुकेशन में इनोवेशन लाना।
  4. देश की हेल्थ प्रॉब्लम्स को दूर करने के लिए काबिल टीचर तैयार करना।
  5. कम्यूनिटी बेस्ड स्टडी और रिसर्च करना।

इसी के साथ अगर बात करें कि एम्स में कौन कौन से कोर्स चलाए जाते हैं तो एम्स में स्टडी और रिसर्च के अलावा मरीजों की देखभाल के लिए सभी जरूरी सुविधाएं मौजूद हैं और मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए एम्स में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रैजुएशन लेवल पर मेडिकल और पैरामेडिकल कोर्स चलाए जाते हैं। Aiims में एक नर्सिंग कॉलेज में चलाया जाता है मेडिकल रिसर्च के फील्ड में एम्स सबसे आगे है और हर साल इस कॉलेज में 600 से भी ज्यादा रिसर्च वर्क पब्लिश किया जाता है यहां 42 विषय में स्टडी और रिसर्च होती है दोस्तो देश के इस सबसे रेगुलेटेड कॉलेज में अगर आप भी एडमिशन लेना चाहते हो तो आपको ये पता होना चाहिए कि एम्स हर साल ऑल इंडिया लेवल पर एमबीबीएस कोर्स एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट करता है और इसी एग्जाम के रिजल्ट के बेस पर एम्स के अलग अलग ब्रांचेज में एडमिशन दिया जाता है और ये एंट्रेंस एग्जाम देने के लिए कैंडिडेट का इंग्लिश बेसिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से 12th पास होना जरूरी है जिसमें 60 प्रतिशत मार्क्स होना कंपल्सरी है।

इसके अलावा एक और इम्पॉर्टेंट बात ये है कि इस एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करने के लिए कैंडिडेट की मिनिममउम्र भी 17 साल होनी जरूरी है Aiims से जुड़ी सभी खास जानकारियां हमने आपको इस लेख में देने की पूरी कोशिश की है हमे उमीद की ये जानकारी आपको अच्छी और यूजफुल लगी होगी तो इस पोस्ट को उनके साथ जरूर शेयर कीजिए जोकि इस बारे में जानकारी जुटा रहे हैं या उनका सपना है मेडिकल में आने का। इसके साथ ही अगर आपका यह सपना है तो ऑल द बेस्ट और बाकी करियर को लेकर कोई भी सवाल तो प्लीज कॉमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बताइए हम पूरी कोशिश करेंगे आपके उन सभी सवालों का जवाब देने की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here