नमस्कार दोस्तो आप सभी का स्वागत एक बार फिर से हमारे वेबसाइट पर जहां पर हम लेकर आते हैं आपके सवालों के जवाब जो आपकी हेल्प करते हैं आपके करियर में आपकी ज़िन्दगी में और आज एक ऐसा ही शब्द है जिसका नाम है पैरामेडिकल मेडिकल नाम तो आप ने बहुत बार सुना होगा ये पैरामेडिकल क्या बला है चलीए जानते है इस लेख में अगर आपका इंट्रेस्ट मेडिकल सेक्टर में करियर बनाने में है और आप जॉब ओरिएंटेड कोर्सेस की तलाश में हैं तो पैरा मेडिकल फील्ड में आपकी तलाश खत्म हो जाएगी क्योंकि मेडिकल साईंस के इस सेक्टर में ढेरों जॉब ऑपर्च्युनिटी हैं।

और इन कोर्सेज का स्क्रोरे भी तेजी से बढ़ा है ऐसे में आप भी पैरामेडिकल सेक्टर में अपनी पसंद का कोर्स करने से जुड़ी जानकारी लेना चाहते हैं तो तनवीश.इन का ये लेख आपके लिए है जिसमें पैरामेडिकल मेडिकल से जुड़ी सारी जरूरी इन्फॉर्मेशन मिल जाएगी और सही कोर्स चुनने में आपको बहुत आसानी होगी ।इसलिए इस पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढ़े तो चलिए शुरू करते हैं।

पैरामेडिकल क्या है।

पैरामेडिकल मेडिकल कोर को सपोर्ट करता है पैरामेडिकल कोर्सेस जॉब ओरियंटेड एकेडमिक प्रोग्राम्स होते हैं जिसे करने के बाद में आप एक हेल्थ केयर के ट्रेंड वर्कर के रूप में तैयार हो जाते हैं यह कोर्स करने के बाद पैरा पैरामेडिकल फील्ड्स जैसे कि डायग्नोसिस, फिजियोथेरेपी, रेडियोग्राफी, लेबोरेटरी में टेक्निशियन के रूप में काम कर सकते हैं जिसे एमआरआई टेक्निशियन, रेडियोलॉजी असिस्टेंट, डायलिसिस टेक्नीशियन, नर्सिंग असिस्टेंट, एम्बुलेंस अटेंडेंट, क्रिटिकल केयर पैरा मैटिक, डेंटल असिस्टेंट ऑपरेशन थियेटर असिस्टेंट, पैरामेडिकल कोर्स करने वाले कैंडिडेट को पैरा मैटिक कहा जाता हैं।

पैरामेडिकल ट्रेन्ड और स्किल्ड मेडिकल प्रोफेशनल होता है जो कुछ हद तक फिजिशियन की ड्यूटीज भी निभाता है यानी एमरजेंसी की कंडीशन में पेशेंट को एग्जामिन और बेसिक ट्रीटमेंट देने जैसे काम भी करता है हॉस्पिटल्स के एमरजेंसी मेडिकल सर्विस यूनिट में ज्यादातर पैरामेडिकल पॉइंट होते हैं आपने अक्सर देखा।

पैरामेडिकल कोर्सेज और उनका क्राइटेरिया क्या है।

पैरामेडिकल कोर्स डिस्टेंस 10वी क्लास पास करने के बाद भी किए जा सकते हैं और 12वी क्लास में साइंस स्ट्रीम यानी की बायोलॉजी रखने वाले कैंडिडेट्स भी इन कोर्सेस को कर सकते हैं । इन कोर्सेस में एडमिशन लेने के लिए कुछ कॉलेजेस में एंट्रेंस टेस्ट होते हैं जबकि कई कॉलेज में ऐडमिशन मेरिट बेस पर होता है।

पैरामेडिकल से जुड़े सभी कोर्सेज की ड्यूरेशन।

सर्टिफिकेट पैरामेडिकल कोर्सेस इन सर्टिफिकेट कोर्सेज की ड्यूरेशन छह महीने से दो साल तक होती है और ये कोर्सेज हैं सर्टिफिकेट डेंटल असिस्टेंट, सर्टिफिकेट इन एक्सरे टेक्नीशियन, सर्टिफिकेट इन नर्सिग केयर असिस्टेंस, सर्टिफिकेट टेक्नीशियन या लैब असिस्टेंट, सर्टिफिकेट इन ईसीजी एक्सरे स्कैन टेक्निशियन, सर्टिफिकेट इन रूरल हेल्थ केयर, सर्टिफिकेट इन डायलिसिस टेक्निशियन, सर्टिफिकेट इन एचआईवी एंड फैमिली एजुकेशन, सर्टिफिकेट इन होम बेस्ट हेल्थ केयर।

पैरामेडिकल में डिप्लोमा कोर्सेस के बारे में।

ये डिप्लोमा कोर्सेस एक से तीन साल में कंप्लीट होते हैं तो इनमें से कोई भी कर सकते हैं डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर, डिप्लोमा इन ओटी टेक्नीशियन, डिप्लोमा इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी, डिप्लोमा इन एक्सरे टेक्नोलॉजी, डिप्लोमा इन डायलिसिस टेक्नोलॉजी, डिप्लोमा इन डेन्टल हाईजीन नेस्ट, डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी और डिप्लोमा इन इनोसेंट केयर असिस्टेंट।

बैचलर डिग्री कोर्सेस।

इन कोर्सेस की ड्यूरेशन तीन से चार साल होती है और ये कोर्सेज हैं बीएससी नर्सिंग, बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी, बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी । बैचलर ऑफ रेडिएशन टेक्नोलॉजी, बीएससी इन एक्सरे टेक्नोलॉजी, बीएससी मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी, बीएससी इन ऑप्टोमेट्री, बीएससी इन न्यूक्लियर मेडिसिन टेक्नोलॉजी, बीएससी इन डायलिसिस थेरेपी, बीएससी इन मेडिकल रिकॉर्ड टेक्नोलॉजी, बीएससी इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी, बीएससी इन एनेस्थीसिया टेक्नोलॉजी, बैचलर आफ आयुर्वेदिक मेडिसन एसओजी यानिकी (बी ए एमएस बीएससी) इन ऑपरेशन थियेटर टेक्नोलॉजी।

पैरामेडिकल पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेस।

इन कोर्सेस की ड्यूरेशन दो साल होती है और ये कोर्सेज हैं पीजी डिप्लोमा इन मेडिकल एंड चाइल्ड हेल्थ, पीजी डिप्लोमा इन हॉस्पिटल एंड हेल्थ मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन जेनेटिक मेडिसिन, एमएससी नर्सिंग, मास्टर ऑफ रेडिएशन टेक्नोलॉजी, मास्टर ऑफ मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी, मास्टर ऑफ पैथोलॉजी टेक्नोलॉजी, मास्टर ऑफ ऑप्टोमेट्री इन अब टेक्नोलॉजी, मास्टर वेटनरी एंड पब्लिक हेल्थ, मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी, मास्टर ऑफ फार्मेसी, मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी, मास्टर ऑफ हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन तो इन सारे कोर्सेज के साथ आगे आप पैरामेडिकल में बहुत से सब्जेक्ट्स में स्पेशलाइजेशन भी कर सकते हैं जैसे कि मेडिकल एमरजेंसी व फार्माकोलॉजी बेसिक लाइफ सपोर्ट।

पैरामेडिकल कोर्स करने के लिए कुछ बहुत ही पॉपुलर कॉलेजेस के नाम।

शारदा यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा | गुजरात यूनिवर्सिटी अहमदाबाद | जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी न्यू दिल्ली | के आईआईटी यूनिवर्सिटी भुवनेश्वर | इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी इग्नू नई दिल्ली | यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज यूपीएस देहरादून | लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी एलपीयू जालंधर | एसआरएम यूनिवर्सिटी चेन्नई मनिपाल | यूनिवर्सिटी एमयू मनिपाल मनिपाल | यूनिवर्सिटी एमयू मनिपाल | जयपुर यूनिवर्सिटी जे येन यू जयपुर | यूनिवर्सिटी अब डेली डीयू नई दिल्ली तो पैरामेडिकल कोर्स करने के बाद में आपको इन सभी सेक्टर में अपनी जरूरत के अकॉर्डिंग जॉब के लिए अप्लाय भी तो करना होगा इसके लिए आपको स्पीड के टॉप रिक्रूटर्स के बारे में भी पता होना चाहिए।

पैरामेडिकल सेक्टर के टॉप रिक्रूटर्स के नाम।

फोर्टिस हॉस्पिटल | नानावटी हॉस्पिटल | अपोलो हॉस्पिटल्स | मनिपाल हॉस्पिटल | पी आई जी एम ई आर | मैक्स की और हॉस्पिटल | बिल रूथ हॉस्पिटल | आरटीएस हॉस्पिटल

जहां तक इस फील्ड में स्कोप का सवाल है तो इंडिया में पैरामेडिकल पीएमएस को बहुत ज्यादा बढ़ गया है क्यूंकि मेडिसिन के फील्ड में रिसर्च वर्क काफी ज्यादा बढ़ गया है और आए दिन कोई नई बीमारी खोज ली जाती है ऐसे में मेडिकल फील्ड को ऐसे प्रोफेशनल्स की काफी ज्यादा से ज्यादा जरूरत पड़ती है जो कि इस फील्ड पर बढ़ने वाले प्रेशर को हैंडल करने में हेल्पफुल हो सके इसके अलावा कॉरपोरेट हॉस्पिटल्स की बढ़ती संख्या ने भी इस स्कोप को काफी ज्यादा बढ़ा दिया है इस कोर्स को करने के बाद आपको कितना स्कोप मिल सकता है ये आपके कोर्स के लेवल पर निर्भर करता है यानी आपने सर्टिफिकेट डिप्लोमा बैचलर और पोस्ट ग्रैजुएट कोर्स में से जिस लेवल का कोर्स किया होगा आपका स्कोप और सैलरी उस पर ही निर्भर करेगी।

इसके अलावा आपकी प्रैक्टिस और एक्सपीरियंस इस फील्ड में बहुत मैटर करता है चूंकि ये सेक्टर ही प्रैक्टिकल वर्क का है इसीलिए अपने कोर्स के एकोडिंग भले ही आप स्मॉल लेवल शुरुआत करें लेकिन अगर आप अपने काम में एक्सस्पर्ट बन जाएंगे तो हाई सैलरी पाना आपके लिए आसान हो जाएगा अंदाजे के तौर पर ही कह सकते हैं कि पैरामेडिकल कोर्स के बाद में आप 2 लाख से 10 लाख तक सैलरी पा सकते हैं ये सैलरी पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के अकॉर्डिंग होती है।

तो दोस्तो आपको पैरामेडिकल के बारे में सारी इंफॉर्मेशन हमने आपको दे दी है अब डिसाइड आपको किस कॉलेज में एडमिशन लेना है कौन सा कोर्स चूज करना है और इन सभी चीजों आपके ऊपर है । सेवा की भावना जो आपको कभी नहीं भूलती है । सेवा की भावना आपके अंदर है तो बस देर है किसी कोर्स को करने की । कॉलेज में एडमिशन लेने की अपनी पढ़ाई पूरी लगन के साथ करने की आइएमसॉर जो आप चाहते आपका सपना जल्दी पूरा होगा । इन्हीं सारी बातों के साथ यहीं पर क़दम उठाए और आगे बढे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here