14.7 C
London
Monday, May 25, 2020

Loco Pilot क्या हैं, Loco Pilot की योग्यता और Loco Pilot की सैलरी?

हम सब लाइफ में एक ऐसी जॉब चाहते हैं जिसमें अच्छी सैलरी मिले और लाइफ सेटल हो सके इसके लिए कुछ लोग प्राइवेट पंप्स में जॉब करना पसंद करते हैं तो कुछ लोग अपना खुद का बिजनेस शुरू करते हैं जबकि बहुत सारे लोग गवर्मेंट जॉब के लिए तैयारी करते हैं ताकि उन्हें सरकारी नौकरी मिल सके पर इसके लिए मेहनत काफी करनी पड़ती है क्योंकि एक्जाम फाइट करने पड़ते हैं और सेलेक्ट होने के बाद ही पसंदीदा गवर्मेंट जॉब आपके हाथ आती है तो ऐसी ही एक गवर्मेंट जॉब के बारे में आज इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं और काफी सारे लोगों ने इस बारे में पूछा है और वो है लोको पायलेट की जॉब शायद आप जानते भी होगे कि लोको पायलट का मतलब क्या होता है और अगर आप नहीं जानते हैं तो इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि लोको पायलट बनने से जुड़ी सारी जरूरी बातें तो चलिए शुरू करते हैं।

लोको पायलट क्या होता है।

लोको का मतलब होता है रेल का इंजन, और लोको पायलट होता है रेल, को चलाने वाला ड्राइवर लोको पायलट ट्रेन के ड्राइवर का दूसरा नाम होता है और भारतीय रेलवे में रेल के ड्राइवर को लोको पायलट ही कहा जाता है।

लोको पायलट की पोस्ट पर डायरेक्ट भर्ती होती है या नहीं।

अगर आप इंडियन रेलवे में लोको पायलेट की पोस्ट पर पहुँचने की सोचते हैं तो ऐसा नहीं हो सकता है चूंकि लोको पायलट की पोस्ट एक प्रमोशनल पोस्ट है जो असिस्टेंट लोको पायलेट को एक्सपीरियंस के बाद मिलती है यानी अगर आपको लोको पायलट बनना है तो पहले आपको असिस्टेंट लोको पायलेट की पोजिशन तक पहुंचना होगा जिसके लिए आपको कॉम्पिटिटिव एग्जाम क्लियर करना होगा असिस्टेंट लोको पायलेट को आगे चलकर सीनियर असिस्टेंट लोको पायलेट की पोस्ट पर प्रमोशन मिलता है और उसके बाद लोको पायलेट के लेवल पर प्रमोशन हो पाता है लोको पायलट की पोस्ट पर एक निश्चित समय तक रहने और एक्सपीरियंस लेने के बाद उस कर्मचारी को पावर Power Controller, Crew Controlle, Loco Fireman या Loco Supervisor की पोस्ट पर प्रमोशन मिल जाता है तो इस तरीके से असिस्टेंट लोको पायलट से लोको पायलट तक का सफर तय होता है और उसके आगे प्रमोशन हुआ करते हैं।

असिस्टेंट लोको पायलट क्या होता है और इसमें क्या काम करना होता है।

असिस्टेंट लोको पायलट की पोस्टिंग अक्सर ग्रुप सी के तहत होती है और रेलवे में असिस्टेंट लोको पायलट यानि की ALP की पोस्ट बहुत ही इम्पॉर्टेंट होती है चूंकि असिस्टेंट लोको पायलट की ट्रेन चलाने से जुड़े सभी ऑपरेशन्स को सही तरीके से हैंडल करने में लोको पायलट यानी ट्रेन ड्राइवर की हेल्प करता है असिस्टेंट लोको पायलेट सिग्नल भेजने से जुड़ी सारी जिम्मेदारियां निभाता है और लोको की सही तरीके से काम करने पर नजर रखता है।

असिस्टेंट लोको पायलेट के लिए क्या क्या चैलेंज होते हैं।

अगर उसकी बात करें तो असिस्टेंट लोको पायलट की जॉब बहुत ही चैलेंजेस वाली होती है चूंकि असिस्टेंट लोको पायलट को ड्यूटी टाइम से भी ज्यादा काम करना पड़ता है ये टाइम कई बार 12 से 14 घंटे का भी हो जाता है इसके अलावा हाई टेम्प्रेचर में भी लगातार ट्रेन चलाने में हेल्प करना वाशरूम जैसी बेसिक फैसिलिटी भी आसानी से नहीं मिल पाना । ऐसे में इन छोटी छोटी दिखने वाली प्रॉब्लम्स को हैंडल करना और पेशेंस रखते हुए अपना काम अलर्ट और एक्टिव रहते हुए लगातार करते रहना असिस्टेंट लोको पायलट और लोको पायलेट की ड्यूटी होती है यानि कि काफी ज्यादा केयरफुल रहना होता है।

इस जॉब के बेनिफिट्स क्या है।

  1. असिस्टेंट लोको पायलेट और उसकी फैमिली को प्री मेडिकल फैसिलिटी दी जाती है।
  2. असिस्टेंट लोको पायलट और उसकी फैमिली को ट्रैवल करने के लिए प्रिविलेज पास मिलते हैं जिनमें लंबी दूरी तय की जा सकती है।
  3. असिस्टेंट लोको पायलट को स्कूल में पढ़ने वाले अपने बच्चों के लिए ईयरली ट्यूशन फीस भी मिलती है और अगर बच्चे असिस्टेंट लोको पायलेट के जॉब एरिया से 50 किलोमीटर की लिमिट से ज्यादा दूरी पर है हॉस्टल में रहते हैं तो इसके लिए हॉस्टल सब्सिडी भी दी जाती है।
  4. हर साल सैलरी में थ्री पोस्ट का इन्क्रीमेंट होता है साल में दो बार Dearness Allowance यानि कि DA दिया जाता है स्पोर्ट्स में एक्टिव रहने पर स्पेशल हॉलिडेज भी दिए जाते हैं। ( तो काफी सारे फायदे भी हैं। )

असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए क्या क्या करना होगा।

सबसे पहली चीज है एजुकेशनल क्वालिफिकेशन असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए कैंडिडेट को 10th पास होना जरूरी होता है इसके अलावा आईटीआई क्लियर होना भी जरूरी है या फिर मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, ऑटोमोबाइल, या इंजीनियरिंग में से किसी एक सब्जेक्ट में डिप्लोमा होना चाहिए और जिस इंस्टिट्यूट से डिप्लोमा किया जाए वो AICTE यानी की All India Council for Technical Education से Recognized होना चाहिए तो जब भी आप किसी कॉलेज में एडमिशन ले तो आप इस बात का जरूर ध्यान रखें।

एज लिमिट:
असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए एज लिमिट 18 साल से 28 साल तक होती है और रिजर्व्ड कैटेगरीज को इसमें छूट भी दी जाती है।

असिस्टेंट लोको पायलेट एग्जाम के प्रॉसेस फॉलो करना:
RRB यानि की Railway Recruitment Boards असिस्टेंट लोको पायलट से जुड़ी अधिसूचना निकालती है जिसमें बताए गए अप्लीकेशन फॉर्म को भर कर के आप इस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं ये फॉर्म ऑनलाइन भरे जा सकते हैं जिसके लिए आपको आन लाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लिकेशन फॉर्म भरना और डॉक्यूमेंट्स अपलोड करने जैसे स्टेप्स को कंप्लीट करना होगा।

असिस्टेंट लोको पायलेट एग्जाम के स्टेप्स:
Computer Based Test यानि की (CBT 1) | Computer Based Test (CBT 2) | Computer Based Aptitude Test (CBAT) | Document Verification और इसी के साथ सीबीटी के दोनों लेवल पर निगेटिव मार्किंग होती है ये दोनों लेवल CBT 1, CBT 2 क्लियर करने के बाद ही सीबीटी में अपीयर हुआ जा सकता है CBT क्लियर करने के बाद ही कैंडिडेट का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन हो पाएगा तो यहां पर इन स्टेप्स का ध्यान रखें।

असिस्टेंट लोको पायलेट की सैलरी:
जहां तक सैलरी की बात है तो असिस्टेंट लोको पायलेट को लगभग 30 हजार रुपए महीने की सैलरी मिलती है इसके अलावा DA यानि की Dearness Allowance और HRA यानी की House Rent Allowance जैसे बहुत सारे अलाउंस भी दिए जाते हैं और एक्सपीरियंस बढ़ने पर सीनियर लोको पायलेट बन जाने पर आपकी सैलरी 55 से 60 हजार पर महीने हो जाती है क्या बात है, सैलरी सुन के बढ़ा अच्छा लगता है ना, लेकिन हां उसके लिए आपको स्टेप बाई स्टेप आगे बढ़ना होगा।

ऐसे दोस्तो अब आप असिस्टेंट लोको पायलट से लोको पायलट बनने तक के सफर के बारे में अच्छे से जान चुके हैं तो अगर आप बहुत सारे बेनिफिट कुछ प्रॉब्लम से घिरी असिस्टेंट लोको पायलट की इस जॉब को पसंद करते हैं तो जमकर तैयारी कीजिए और एग्जाम क्लियर करके पोस्ट हासिल कर लीजिए । लेकिन एक बात जो आपको हमेशा याद रखनी होगी कि आखिर ये जॉब बहुत ही जिम्मेदारी से भरी है क्योंकि हर दिन आपको अपने ट्रेन की सारी सवारियों को सुरक्षित स्टेशन पहुंचाना होगा इसलिए पेशंस जरूर रखें धैर्य रखें।

हम उम्मीद करते है कि असिस्टेंट लोको पायलट और लोको पायलट बनने से जुड़ी ये जानकारी आपको पसंद आई होगी और आपके लिए मददगार भी साबित होगी हमारी ये पूरी जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए।और इसके साथ कोई आपका दोस्त है जिसे जरूरत इस प्रकार के मिशन की प्लीज या उसके साथ ही पोस्ट जरूर शेयर करें।

Yeezyboostsiteshttps://www.yeezyboostsites.com/
नमस्कार दोस्तों, मैं Anil Srivastava, Yeezyboostsites का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो 2017 के बाद से 3+ से अधिक वर्षों के लिए ब्लॉगिंग में अनुभव किया हूँ और 2017 के बाद से ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी और क्रिप्टोक्यूरेंसी के बाद। मैंने कुछ ऑनलाइन व्यवसाय शुरू किए और बहुत कुछ सीखा जो मेरे पाठकों के साथ साझा करने योग्य है।

popular

MBBS: एमबीबीएस की डिग्री क्या है। MBBS कैसे और कहाँ करे

आज करियर के लिए भले ही नए ऑप्शंस क्यों न आ जाएं लेकिन डॉक्टर बनने का सपना वाले लोग कम नहीं आज भी स्टूडेंट्स...

प्रोसेसर क्या है कैसे काम करता है और इसका उपयोग। Processor kya hai

टेक्नोलॉजी से परिपूर्ण आज के दौर में हम बहुत सारी गाजिस का इस्तेमाल करते हैं जिनमें से सबसे ज्यादा उपयोग हम मोबाइल और कंप्यूटर...

Android Kya Hai? – एंड्राइड के अविष्कार और इतिहास

हम मेसे बहुत अधिक लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं और आप कहीं पर भी चले जाइये आपको हर जगह एंड्रॉइड के यूजर देखने...

HTTP और HTTPS में अंतर क्या है। HTTP vs HTTPS?

हम अपने जीवन में कुछ भी काम करते हैं तो सबसे पहले हम अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हैं जैसे हम अपनी सुरक्षा के...

Related news

SarkariResult वेबसाईट पे सरकारी नौकरी और ऑनलाइन फॉर्म

Sarkari Result, Sarkari Job 2020: अभी के समय में हर कोई एक अच्छी जिंदगी जीना चाहता है अपनी ख्वाहिशों अपनी सपनो को...

खोए हुए पैन कार्ड को कैसे प्राप्त करें

क्या आपने अपना पैन कार्ड खो दिया है, खोए हुए पैन कार्ड नंबर को कैसे खोजें – स्थायी खाता संख्या (पैन) एक...

हाइट कैसे बढ़ाए हाइट बढ़ाने के सरल और प्रभावी तरीके

नमस्कार, पाठकों, हम एक नए विषय के साथ वापस आए हैं जो स्वास्थ्य पर है। इस लेख में, हम आपको बताएंगे कि आपकी ऊंचाई...

बच्चों के दिमाग को जल्दी कैसे विकसित करे

हर कोई चाहता है कि उसके बच्चे Bright और Smart बनें । जो भी उनसे पूछा जाए वो बता दे जो भी उनसे करने...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here